अपहरणकांड का खुलासा । आरोपियो ने कर्ज से परेशान होकर बनायी थी ब्लेकमेल करने की योजना

 पी बेनेट 7389105897

 

अपहरणकांड का खुलासा । आरोपियो ने कर्ज से परेशान होकर बनायी थी ब्लेकमेल करने की योजना

ब्लेकमेल करने की योजना असफल होने पर किये अपहृत की हत्या

सुनियोजित तरीके से दिया घटना को अंजाम मृतक के शव को साक्ष्य छिपाने हेतु केशकाल के जंगल में लगाया ठिकाने ।

आरोपीगणों द्वारा मृतक की हत्या करने के बाद मृतक के एटीएम एवं फोन – पे का कर रहे थे उपयोग

बिलासपुर– पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 05.11.2022 को प्रार्थीया अकबरी खातुन पति वकील अंसारी उम्र 35 साल निवासी आसमा सिटी सकरी जिला बिलासपुर की थाना उपस्थित आकर रिर्पोट दर्ज करायी की प्रार्थीया का पति दिनांक 03.11.2022 को अंबिकापुर जाने के लिए निकले है जो दिनांक 04.11.2022 के रात्रि तक बिलासपुर वापस नहीं आने से गुम इंसान कंमाक 117 / 2022 दिनांक 05.11.2022 को कायम कर विवेचना में लिया दौरान के दौरान ज्ञात हुआ कि गुम इंसान वकील अंसारी द्वारा अपने एक मित्र आर . एस . बागडिया से फोन से बातचीत कर बताया कि कुछ व्यक्ति द्वारा उसे ( वकील अंसारी ) उठा लिया है और उससे पैसे की मांग कर रहे है इस बात की जानकारी गुम इंसान की पत्नी अकबरी खातुन द्वारा सकरी थाने में दिया गया जिस पर से सकरी पुलिस द्वारा आर . एस . बागडिया से संपर्क कर अपहरण के अपराध घटित होने की पुष्टि होने पर गुमइंसान जांच पर से दिनांक 08.11.2022 को अपराध कमाक 573 / 22 धारा 365 भादवि कायम कर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर विवेचना प्रारंभ की गयी ।
प्रकरण में विवेचना के दौरान अपहृत वकील अंसारी के मोबाईल नंबर का सीडीआर / टावर डम्प एवं बैंक संबंधी जानकारी प्राप्त कर जानकारी के अनुसार मोबाईल लोकेशन के आधार पर संभावित स्थानों में गठित टीम को रवाना कर तस्दीक किया गया जिसमें अपहृत के एटीएम कार्ड / फोन पे के माध्यम से राशि आहरित / भुगतान होने की जानकारी प्राप्त हुयी इसके आधार पर टीम लगातार अंबिकापुर कांकेर , कोण्डागांव , हैदराबाद , नागपुर , आगरा , मथुरा , बिहार , रवाना होकर सभी स्थानो का तस्दीक किया गया किंतु अपहृत के बारे में कोई जानकारी नही मिली ।

पुलिस के द्वारा तकनीकि आधार पर लगातार विवेचना की जा रही थी इस दौरान प्राप्त तकनीकि साक्ष्य के विश्लेषण से यह ज्ञात हुआ कि अपहृत के मोबाईल नंबर एवं फोन पे एवं एटीएम से पैसे आहरित हुये स्थानों पर कुछ मोबाईल नंबर लगातार उपस्थित मिले इस आधार पर इन नंबरो के धारक के बारे जानकारी प्राप्त कर उपरोक्त सभी नंबरो को संदिग्ध मानकार निरंतर मानिटरिंग कर संदेहियो का पता तलाश किया गया जो दिनांक 13.01.2023 को प्राप्त लोकेशन के आधार पर एक पुलिस टीम गठित कर भिलाई खाना किया गया । भिलाई 03 मे प्राप्त जानकारी के अनुसार संदेही ( मुख्य आरोपी ) हेमंत साहू को अभिरक्षा में लेकर कडाई से पुछताछ करने पर स्वीकार किया कि अपनी पत्नी संतोषी वर्मा व साथी गणेश यादव उर्फ सोनू के साथ मिलकर वकील अंसारी की हत्या किये है तत्पश्चात अन्य आरोपी संतोषी साहू एवं गणेश यादव को भी भिलाई 03 से पुलिस अभिरक्षा में लेकर पुछताछ करने पर इनके द्वारा अपराध किया जाना स्वीकार किया गया जिससे आरोपियों की विधिवत् गिरफतारी की गयी । घटना का कारण – आरोपी हेमंत साहू भिलाई का निवासी है एवं जुआ सटटा का कार्य करता है तथा वर्तमान में अत्याधिक कर्ज होने से परेशान था जो अपने पत्नी संतोषी वर्मा के साथ माह अक्टूबर से लगातार बिलासपुर आकर नौकरी की तलाश कर रहा था अक्टूबर माह में आरोपी हेमंत साहू एवं संतोषी वर्मा का मुलाकात वकील अंसारी से भाटापारा के एक पेट्रोल पम्प में हुआ आरोपीगण द्वारा वहा जाकर मृतक वकील अंसारी से काम मांगने पर वकील अंसारी ने अपने आप को पेट्रोल पम्प का मालिक बताया उसी दिन से आरोपी पति पत्नी के मन में पैसे की जरूरत और लालच आने से दोनो ने मिलकर वकील अंसारी को योजनाबद्ध तरीके से ब्लेकमेल करने का योजना बनाया । दिनांक 03.11.2022 को तय योजना के अनुसार आरोपिया संतोषी वर्मा मृतक वकील अंसारी के वाहन में बैठकर अंबिकापुर गयी जिसके पीछे आरोपी हेमंत साहू एवं गणेश यादव भी अपने गाडी डस्टर सफेद रंग से पीछा करते जा रहे थे और मृतक को रास्ते में ही संदिग्ध अवस्था में पकड़कर ब्लेकमेल करने की योजना थी किन्तु आरोपियों के गाड़ी का स्पीड कम होने से योजना असफल हो गई और मृतक वकील अंसारी आरोपिया संतोषी वर्मा के साथ अंबिकापुर पहुंचने के बाद होटल में रूक गये दिनांक 04.11.2022 को मृतक वकील अंसारी आरोपिया संतोषी वर्मा के साथ जब बिलासपुर आने निकला तब आरोपी हेमंत साहू एवं गणेश यादव पीछा करते बिलासपुर तक पहुंचे ,

सेंदरी मोपका बाईपास कोनी रोड में मृतक वकील अंसारी द्वारा अपने कार को रोकने पर आरोपी हेमंत साहू एवं गणेश यादव द्वारा गाड़ी के पास पहुॅचकर मृतक वकील अंसारी को संदिग्ध स्थिती मे देखकर , अवैध संबंध बनाये हो कहकर धमकी देकर पैसे की मांग कर ब्लेकमेल करने लगे , जिसका विरोध मृतक द्वारा करने पर मृतक एवं आरोपीगणो के बीच हाथापाई हुयी और आरोपीगण द्वारा अपने हाथ में रखे पेपर कटर से वकील अंसारी के उपर हमला किये और उसे अपने वाहन में बैठाकर बिलासपुर से बलौदाबाजार होकर केशकाल की ओर गये तथा रास्ते में ही मृतक से मृतक का एटीएम एवं पासवर्ड , फोन पे का युपीआई कोड प्राप्त कर लिये थे , तथा पुलिस को गुमराह करने की नियत से मृतक के खाता से आहरण कर रहे थे । मृतक की मृत्यु रास्ते में हो जाने से मृतक वकील अंसारी को केशकाल घाटी के नीचे फेंक देना अपने अपने कथन में बताये है । आरोपियों द्वारा अपहृत वकील अंसारी की हत्या कर शव को केशकाल जंगल में फेंके जाने की स्वीकारोक्ति के पश्चात् बिलासपुर पुलिस द्वारा जिला कोण्डागांव पुलिस से संपर्क कर घटना के संबंध में जानकारी मांगी गयी जिसमें यह ज्ञात हुआ कि कोण्डागांव जिला के केशकाल थाना क्षेत्र केशकाल जंगल में दिनांक 11.12.2022 को एक अज्ञात पुरूष का क्षत विक्षत शव मिलने पर मर्ग कायम कर विवेचना में लिया गया था उक्त अज्ञात शव की फोटोग्राफ को मंगाकर अपहृत की पत्नी को दिखाने पर अज्ञात शव के कलाई में बंधे हाथ घडी को देखकर अपने पति की घडी होना बताया तथा शव को वकील अंसारी के रूप में पहचान की है । केशकाल पुलिस के द्वारा मर्ग जांच में मृतक का पोस्टमार्टम कराया गया है जिसमे मृत्यु के कारणों के संबंध में रासायनिक परीक्षण के पश्चात बताया जाना लेख किया गया है । सभी आरोपीगणो को माननीय न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड प्राप्त कर अग्रिम विवेचना कार्यवाही की जा रही है । सराहनिय भूमिका :

आरोपीगणों का नाम : 01 . – हेमंत साहू पिता नरेश साहू उम्र 33 साल साकिन विश्वबैंक कालानो , भिलाई- 03 , थाना पुरानी भिलाई , जिला दुर्ग ( छ.ग. ) 02 . श्रीमती संतोषा वर्मा उर्फ पूजा वर्मा पति हेमंत साहू उम्र 35 साल साकिन विश्वबैंक कालानो , भिलाई – 03 , थाना पुरानी भिलाई , जिला दुर्ग ( छ.ग. ) 03. गणेश यादव उर्फ सोनू पिता शंकर यादव उम्र 22 साल साकिन विश्वबैंक कालानो , भिलाई – 03 , थाना पुरानी भिलाई , जिला दुर्ग ( छ.ग. 

उपरोक्त संपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी सकरी सागर पाठक , ए.सी. सी . यू . प्रभारी धर्मेन्द्र वैष्णव , उ.नि. अजय वारे , प्रभाकर तिवारी , सउनि हेमंत आदित्य जीवन साहू , . राजेश्वर क्षत्री , आर . हेमंत सिंह ( डी.एस.बी. ) , आर . सुनील सूर्यवंशी , आर . मालिक राम साहू एवं महिला आरक्षक सुनीता ध्रुवे का विशेष योगदान रहा ।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

परमात्म शक्ति द्वारा स्वर्णिम भारत की स्थापना- ब्रम्हकुमारी प्रियंका दीदी

🔊 Listen to this    पी बेनेट 7380105897 ब्रम्हकुमारीज एवं ओम शांति मीडिया ने कराया …